Saturday , June 18 2022

कानपुर में भाजपा विधायक के बेटे का तथाकथित इंसाफ़

उत्तर प्रदेश के कानपुर महानगर में बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने सत्तारूढ़ भाजपा विधायक के बेटे की अगुआई में  एक निर्दोष मुस्लिम को पुलिस की मौजूदगीमें सरेआम पीटा , जबकि उसकी बेटी दया की भीख मॉंगती रही . इस भीड़ ने दूसरे धर्म के लोगों को अपमानित करने के लिए हरे रंग का एक झंडा भी जलाया . आज की चर्चा इसी विषय पर. 

कानपुर पुलिस ने इस संबंध में यह विज्ञप्ति जारी की है :

प्रेस नोट:आज दोपहर की एक घटना का विडियो प्रकाश में आया है जिसमें एक व्यक्ति के साथ कुछ लोग मारपीट कर रहे हैं.इस सम्बन्ध में अवगत कराना है कि इसका पूर्व विवरण निम्न है:दि 12.07 2021 को श्रीमती कुरैशा बेगम द्वारा FIR दर्ज कराई गई जिसमें मारपीट की शिकायत एक दंपत्ति के विरुद्ध की गई जिसमें कच्ची बस्ती मोहल्ला थाना बर्रा में यह घटना होना बताया गया (धारा 323,504,506)उपरोक्त अभियोग के आरोपी पक्ष द्वारा 1. सद्दाम पुत्र लल्लू 2. सलमान पुत्र लल्लू, 3.मुकुल पुत्र लल्लू के विरुद्ध FIR दर्ज की गई जिसमें छेड़खानी,आदि की शिकायत की गई ( धारा 354)दोनों अभियोगों की विवेचना प्रचलित हैदूसरे पक्ष द्वारा दर्ज किए गए FIR में विवेचना के दौरान वादी द्वारा जबरन धर्मान्तरण के लिए दबाव बनाने का आरोप लगाया गया व कार्रवाई की मांग की गई. इस सम्बन्ध में विवेचना प्रचलित है.आज कुछ व्यक्तियों द्वारा इस अभियोग में कार्रवाई की मांग करते हुए रामगोपाल चौराहा एकत्रित हो कर प्रदर्शन किया जा रहा था. यहाँ पुलिस व PAC बल उपस्थित था व स्थित को नियंत्रित किए हुए था.प्रदर्शन स्थल से 500 मीटर (लगभग) अजय (बैंड वाला), उसका पुत्र डॉन, आदि व अन्य व 8-10 अज्ञात व्यक्तियों द्वारा श्री अफ़सार अहमद के साथ मारपीट की गई. सूचना मिलते ही पुलिस बल वहां पहुंचा और श्री अफ़सार अहमद को सुरक्षित करते हुए थाने लाया गया.श्री अफ़सार अहमद की तहरीर पर 147,323,504,506 का अभियोग पंजीकृत किया गया है व विवेचना की जा रही हैआरोपियों के विरूद्ध कानूनी कार्रवाई की जा रही हैकच्ची बस्ती क्षेत्र में स्थित सामान्य है. एहतियात के तौर पर पुलिस बल तैनात किया गया है.-रवीना त्यागी, DCP South

Check Also

चिंता पर चर्चा Part II : देश में बेरोजगारी बढ़ने से बढ़ी खुदकुशी करने वालों की संख्या, क्या कहते हैं अर्थशास्त्री

देश में बीते कुछ वर्षों में बेरोजगारी बढ़ी है, जिससे ज्यादातर लोग कर्ज के बोझ …